Hindi Horror Stories | एक सच्ची घटना

0

हेलो दोस्तो आज मैं आप लोगो को एक Hindi Horror Stories एक सच्ची घटना की कहानी बताने जा रहा हु, दोस्तो यह बहुत ही डरावनी और विचलित कर देने वाली सच्ची कहानी है, यह कहानी मेरे दोस्त अंश ने भेजा है जो दिल्ली में जॉब करता है, , शायद यह कहानी पढ़ने के बाद आप लोगो यकीन नही होगा लेकिन यह एक True Story है |

शुरू में तो मुझे भी यकीन नही हुआ फिर धीरे धीरे मुझे भी यकीन होने लगा, पहले मैं यह सोचता था कि भूत,प्रेत,आत्माएं, चुड़ैल कहानी में ही होते है लेकिन फिर मैने इसके बारे में रिसर्च किया तब पता चला कि वाकई में भूत, प्रेत,आत्मा,चुड़ैल होते है ।

तो चलिए दोस्तो Hindi Horror Stories एक सच्ची घटना की कहानी की शुरुआत करते है ।


Hindi Horror Stories | एक सच्ची घटना

दिल्ली शहर जो कि भारत की राजधानी है यह शहर बहुत ही खूबसूरत और बहुत बड़ा है, यदि आप एक बार दिल्ली जाओगे तो बार बार आप लोगो का जाने का मन करेगा, दिल्ली में घुमने के लिए कई खूबसूरत जगह भी है, दोस्तो कहा जाता है दिल्ली दिल वालों की है और यहां दिन की रोशनी और रात की चकाचौंध हमेशा इस शहर को जिंदा रखती है |

पर इस रोशनी और चकाचौंध के पीछे छुपी है कई राज, इस राज को जानने की किसी ने कोशिश नहीं की क्योंकि जिंदगी यहां चलती नहीं दौड़ती है शायद यही कारण था कि उन लोगों ने उनकी जिंदगी में हो रही इस अजीबोगरीब घटना के पीछे का राज जानने की कोशिश नहीं की |

आज की यह कहानी रवि और उसकी वाइफ और रमेश के साथ हुई घटना पर आधारित है यह तीनों एक साथ महरौली में एक 2BHK फ्लैट में रहते थे, जहां शिफ्ट हुए उन्हें सिर्फ 3 महीने ही हुए थे, तीनों एक साथ एक ही प्रोडक्शन हाउस में काम करते थे जो कि रवि और रमेश का अपना खुद का बिजनेस था |

जिंदगी का हर लम्हा साथ बिताते थे चाहे वह काम हो या घूमना, ये सभी अपनी life से बहुत खुश थे, लेकिन हर दिन सुबह 5:00 बजे अपने ऑफिस जाने के लिए जब उठते थे तो पूरे घर की लाइट ऑन मिलती थी फिर एक दूसरे से सवाल जवाब करने से एक ही नतीजा निकलता था कि उन तीनों में से किसी ने भी लाइट ऑन नहीं की |

इस अजीब घटना की शुरुआत आज से 3 महीने पहले हुई थी उन्होंने यह बात किसी को भी नहीं बताई उन्हें यह डर था कि शायद उनके दोस्त उनका मजाक बनाएंगे और शाम करीबन 5:00 बजे यह तीनों अपने काम से लौटते थे, शाम 6:00 बजे घर का काम करने वाली बाई भी आ जाती थी और कभी-कभी उसका बच्चा भी आया करता था |

वह चीजों को छेड़खानी करता पर कोई कुछ नहीं कहता क्योकि उनके इलाके में बाई मिलना बहुत मुश्किल था और इसलिए उन्हें उस बाई और उसके बच्चे से कोई प्रॉब्लम नहीं थी, लेकिन एक दिन अचानक हद ही हो गई जब रवि और उसकी वाइफ देर रात बाहर से घर आए तो देखा बाई का बच्चा उनके बेडरूम में खेल रहा था तो उन्होंने सोचा वह पड़ोस में काम करने गई होगी बच्चे को यहां छोड़कर ।

पर रवि की वाइफ को इस बात पर बहुत गुस्सा आ रहा था क्योंकि अपने बच्चे को घर पर लाना तो ठीक था मगर उसे यहां खेलता हुआ छोड़कर किसी दूसरे के घर काम करना यह उन्हें बिल्कुल पसंद नहीं आया, दोनों ने एक घंटा इंतजार किया, फिर वह पड़ोस में गए बाई का पता लगाने और पड़ोस में वर्मा जी की बात सुनकर वह शॉक हो गई क्योंकि वह आज नहीं आई थी फिर दोनों घर गए तो उन्होंने देखा बच्चा पूरे घर में नहीं था ।

बच्चा आखिर गया तो गया कहा ? फिर उन्होंने ज्यादा नहीं सोचा क्योंकि उन्हें एक पार्टी में जाना था फिर रात को रमेश लेट नाइट सूट करके आया और उसने देखा पूरे घर की लाइट और बाथरूम की लाइट ऑन पड़ी थी , उसने बाथरूम का गेट खोला और देखा पूरे बाथरूम में खून फैला हुआ था वह डर गया |

फिर डर के मारे मेन गेट की तरफ भागा तभी उसे उस बच्चे की आवाज आई और उसने उसे बोला बेटा तुम यहां क्या कर रहे हो ?बच्चा कुछ नहीं बोला और धीरे से मुंह उपर उठाकर मुस्कुराया लेकिन उसकी मुस्कान में अजीब सी बात थी जैसे उसने कई राज छुपा रखे हो, वह डर के मारे बाहर निकल गया और रवि और उसकी वाइफ को भी बुला लिया ।

फिर वह तीनों एक साथ डरे डरे अंदर आए अब रात के करीब 12:00 बज रहे थे उन्हें किसी भी तरह यह रात काटनी थी सुबह तक, तीनो बहुत ही खौफ में थे आखिर यहा क्या हो रहा है ? फिर रवि ने मकान मालिक को कॉल लगाया और सारी बात बताई |

तब मकान मालिक ने उसे बताया कि कुछ साल पहले यहां एक परिवार रहा करता था जिसमें पति-पत्नी और एक बच्चा था, कर्ज के बोझ होने के कारण पहले उसने अपनी बीवी बच्चों को मारा फिर खुद मर गया, यह सब जानने के बाद वहां रहना तो दूर वहां एक पल गुजारना भी मुश्किल था, तीनो रात भर बहुत डरे हुए थे |

फिर जैसे तैसे उन्होंने वह रात गुजारी और अगले दिन जब कामवाली बाई घर आई तो तीनो ने उससे एक ही सवाल पूछा तुम्हारा बेटा नहीं आया, फिर वह बाई पहले तो 1 मिनट तक चुप रही और फिर बोली कि साहब मेरा तो कोई बेटा ही नहीं है, तीनो यह बातें सुनकर हैरान रह गए, तीनो के होश उड़ गये |

रवि ने एक बार फिर क्या सच में तुम्हारा कोई बेटा नही है, कामवाली बाई ने कहा नही साहेब मेरा कोई बेटा नही है, यह बाते सुनकर तीनो के पसीने आने लगे और रवि की वाइफ चक्कर खाके तुरंत गिर गई, अब तीनो समझ गये थे की उसके फ्लैट में जो बच्चा था वह कोई आत्मा था, फिर तीनो अगले दिन वह फ्लैट छोड़कर दूसरी जगह चले गए |


तो दोस्तों ये थी आज की Hindi Horror Stories | एक सच्ची घटना, यदि पसंद आई हो तो कमेंट जरुर, साथ ही अपने दोस्त को भी शेयर करे, दोस्तों यदि आप लोगो के साथ भी ऐसी कोई घटना घटी है तो हमे शेयर जरुर कीजिये, तब तक के लिए बाय एंड टेक केयर |

यदि दोस्तों आपके पास Hindi में कोई article, Motivational Short Story in Hindi या अन्य Moral Stories in Hindi है जो आप हमारे साथ शेयर करना चाहते है तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करे, हमारा id है [email protected], हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ Publish करेंगे, Thanks.

इसे भी पढ़े – Real Ghost Story in Hindi – प्रेत की पुकार 

इसे भी पढ़े – Incomplete Love Story In Hindi अधूरी प्रेम कहानी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here