Hindi-Story-For-Class-5

बन्दर और भैस की कहानी | Hindi Story For Class 5

Hello दोस्तों मेरा नाम सुमन है आज मैं आपको इस Post में Hindi Story For Class 5 | बन्दर और भैस, की कहानी बताने जा रही हु, दोस्तों जब मैं 4th क्लास में थी तब एक दिन बहुत शरारत कर रहे थे किसी को परेशान कर रहे थे तो किसी के साथ मस्ती कर रहे थे, हम लोगो ने मिलकर क्लास में बहुत धमाल मचाया था |

फिर ये बात Teacher को पता चल गई, Teacher क्लास में आई और बड़े ही प्यार से बोली बच्चो आप लोग मस्ती क्यों कर रहे हो, Teacher बहुत ही प्यारी थी बच्चों लोग को बहुत प्यार करती थी, फिर सभी ने मिलकर माफ़ी मांगी और कहा Sorry Teacher जी अब हम क्लास में कभी शरारत नही करेंगे |

Teacher ने बोला चलो ठीक है बच्चो आज मैं आप सभी को एक कहानी बताने जा रही हु आप सभी लोग बड़े ही ध्यान से और शांत होकर सुनना, फिर Teacher ने Hindi Story For Class 5 | बन्दर और भैस, की कहानी सुनाना शुरू किया |

उम्मीद करते है दोस्तों आपको Hindi Story For Class 5 की ये कहानी पांड आयेगी तो चलिए शुरू करते है Hindi Story For Class 5 बन्दर और भैस की कहानी |


Hindi Story For Class 5 | बन्दर और भैस

एक बहुत बड़ा जंगल था उस जंगल में बहुत से जानवर रहते थे सभी अपनी अपनी धुन मस्त रहते थे, कोई घास चरता तो कोई पेड़ की डाली पर इधर उधर कूदता तो कोई पानी पर तैरता तो कोई आकाश में उडता, इस तरह सभी जानवर की जिंदगी चल रही थी और सभी अपनी जिंदगी से बहुत खुश थे |

उसी जंगल में एक भैसा रहता था जिसका नाम हैरी था, हैरी का शरीर बहुत बड़ा था लेकिन अंदर से बहुत ही नरम दिल का था, अक्सर छोटे जानवर उसके बड़े शरीर के कारण हैरी से बहुत डरते थे, हैरी जिस पेड़ के नीचे रहता था उसी पेड़ के ऊपर में एक बंदर रहता था वह बहुत ही शरारती बंदर था, और उसकी पेड़ में कुछ चिड़िया भी अपनों बच्चो के साथ रहती थी |

बन्दर, हैरी को बहुत परेशान करता था कभी उसके पूंछ खिचता तो कभी उसके ऊपर बैठ जाता, हैरी को बहुत गुस्सा आता था लेकिन वह अपने आप को शांत कर लेता था क्योकि हैरी एक नरम दिल का था, बन्दर हैरी को रोज परेशान करता था लेकिन फिर भी हैरी चुप चाप ही रहता था |

बन्दर, हैरी को परेशान करता यह चिड़िया रोज देखती थी उसे भी बहुत गुस्सा आता था कई बार बन्दर को समझाने पर भी वह बंदर नही माना, तभी एक दिन चिड़िया ने हैरी से पूछा (Hindi Story For Class 5)

चिड़िया ने हैरी से पूछा – तुम्हे बंदर रोज परेशान करते है क्या तुम्हे बुरा नही लगता |
हैरी बोला – मैं उस पर गुस्सा नही कर सकता, मैं आशा करता हु की वो एक दिन ये सब छोड़ दे नही किसी परेशानी में पड़ जायेया |

एक दिन हैरी से मिलने उसका भाई जैरी आया, जैरी अपने भाई के जैसा दीखता था,  हैरी अपने भाई को देखकर बहुत खुश हो गया

जैरी ने कहा – कैसे हो हैरी भाई ? क्या हाल चाल है ?
हैरी ने कहा – अच्छा हु भाई बहुत दिनों बाद तुमसे मिला तो अच्छा लगा, आओ भाई छाव में बैठो मैं तुम्हारे लिए कुछ खाने के लिए लाता हु |
जैरी बोला – ठीक है भाई, मैं पेड़ की छाव में बैठा हु |

जैरी पेड़ के नीचे बैठ गया, फिर जल्द ही शरारती बन्दर आ गया और कहा

बन्दर ने कहा – आज मैं इस बेवकूफ और मोटे भैस को परेशान करूंगा |

बंदर, जैरी को हैरी समझकर परेशान करने लगा क्योकि दोनों भाई एक जैसे ही दिखते थे, कभी उसकी पूंछ खीचता तो कभी उसके सिंग खीचते तो कभी उसके ऊपर बैठ जाता और बहुत तंग करने लगा |

हैरी और जैरी दोनों एक जैसे ही देखते थे लेकिन दोनों का स्वभाव एक दुसरे से अलग था जैरी को बहुत जल्दी गुस्सा आ जाता था, फिर जैरी को अचानक गुस्सा आ गया और कहा

जैरी ने कहा – तुमने मुझे मोटे और बेवकूफ कहा बंदर, तुमने ये सब कहने की हिम्मत कैसी की आज मैं तुम्हारा बुरा हाल कर दूंगा |

फिर जैरी ने अपनी पूंछ से बन्दर को बहुत मारा, बंदर को यकिन नही हो रहा था की ये मुझे कैसे मार सकता है फिर बंदर ने कहा (Hindi Story For Class 5)

बन्दर ने कहा – मुझे माफ़ कर दो plz मुझे माफ़ कर दो मुझे जाने दो अब मैं कभी परेशान ही करूंगा मुझे छोड़ दो

लेकिन जैरी नही माना और बंदर को जंगल के बाहर कर दिया, जंगल के जानवर उसे देखकर हसने लगे |

उस दिन बन्दर ने ऐसा सबक सीखा जिसे वो कभी नही भूलेंगे, बंदर को यह समझ में आ गया था की कभी किसी को परेशान नही करना चाहिये और सबके साथ मिलजुल कर रहना चाहिये, फिर उस दिन के बाद से बंदर ने कभी किसी को परेशान नही किया |


तो दोस्तों यह Hindi Story For Class 5 | बन्दर और भैस, की कहानी आपको कैसी लगी हमे कमेन्ट करके जरुर बताये और साथ ही इस Story को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे |

दोस्तों हमे ये भी बताये की किस टॉपिक पर आप लोगो को Hindi Kahaniya चाहिये, जैसा की Short Story With Moral, Pariyo Ki Kahani, Inspirational Story In Hindi या Hindi Story For Class 5 आदि आपको जिस भी टॉपिक पर चाहिये हमे comment करके अवश्य बताये |

इसे भी पढ़े – Bedtime Stories In Hindi – भलाई का मीठा फल

इसे भी पढ़े – Tenali Rama Story In Hindi | मेहनती कलाकार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *