Panchtantra Ki Kahani | इच्छाधारी नागिन

0

Hello दोस्तो मेरा नाम एकता शर्मा है आज मैं आपको इस Post में Panchtantra Ki Kahani (इच्छाधारी नागिन की बेटी का बदला), की कहानी बताने जा रही हूँ, यह एक बदले की कहानी है जिसे पढ़ने आपको बड़ा मजा आने वाला है ।

दोस्तो अक्सर ज्यादातर लोगों को इच्छाधारी नागिन की कहानी सुनने या पढ़ने की बहुत इच्छा होती है, तो दोस्तो आज मैं एकता शर्मा इस पोस्ट में आपकी इच्छा को पूरी कर देती हूं ।

तो चलिए दोस्तो Panchtantra Ki Kahani (इच्छाधारी नागिन की बेटी का बदला), की कहानी शुरू करते है, दोस्तो यह एक काल्पनिक कहानी हैं इसका Reality से कोई लेना देना नहीं है ।


Panchtantra Ki Kahani | इच्छाधारी नागिन की बेटी का बदला

बहुत समय पहले की बात है शहर से दूर एक छोटा सा गांव था, गांव के सभी लोग अपनी जिन्दगी बड़े ही सादगी से जी रहे थे, सभी लोग मिलजुल रह रहे थे | उसी गांव में एक इच्छाधारी नाग और नागिन रहते थे |

ये बात गांव में किसी को भी पता नही था कि ये दोनों इच्छाधारी नाग और नागिन है |

क्योकि ये दोनों दिनभर इंसानी रूप में रहते थे और रात होते ही असली रूप में आ जाते थे और असली रूप में आकर पास के जंगल मे चले जाते थे फिर सुबह होते ही अपने घर वापस आ जाते थे और ये दोनों गांव वालों को कोई नुकसान नही पहुचाते थे ।

नाग और नागिन की एक बेटी थी जिसका नाम रेखा थी, वे दोनों अपनी बेटी से बहुत प्यार करते थे, रेखा बहुत ही समझदार, सुशील और बहादुर लड़की थी, रेखा भी एक इच्छाधारी नागिन थी और शक्तिशाली भी थी, रेखा के पास एक जादुई मणि थी ।

उसी गांव में बाबा नाम का एक तांत्रिक शमशान घाट में रहता था वह बहुत ही शक्तिशाली था, वह झाड़ फूक का काम करता था, साथ ही प्रेत आत्माओ को भी अपने वश में कर लेता था इसके अलावा तांत्रिक साँप भी पकड़ता था और उसे एक बोतल में कैद कर लेता था ।

गांव में जब भी कोई साँप आता था तो गांव वाले तांत्रिक के पास ही जाते थे ।

एक रात जब नाग और नागिन अपने असली रूप में आकर जंगल जा रहे थे तभी अचानक एक मोनू नाम का लड़का उन दोनों को रूप बदलते हुए देख लेता है | मोनू बहुत घबरा जाता है उसको तो यकीन भी नही होता है |

मोनू डर के मारे पूरा पसीना – पसीना हो जाता है, उसको तो कुछ समझ मे ही नही आ रहा होता है कि क्या करे? फिर मोनू जैसे तैसे अपने घर पहुचता है और सुबह होते ही सभी गांव वालो को बुलाकर रात वाली बात बताता है ।

फिर गांव वाले बाबा तांत्रिक के पास जाते है और बाबा तांत्रिक को सभी बात बताते है बाबा तांत्रिक के होश उड़ जाते है और उसके मन मे जादुई मणि का लालच आ जाता है |

वह सोचता है अब मैं नाग नागिन से जादुई मणि छीनकर इस दुनिया में राज करूँगा फिर मैं कुछ भी कर सकता हूँ, फिर तांत्रिक कहता है अभी रुको आज रात को मैं भी देखना चाहता हूँ ।

फिर रात होते ही नाग नागिन को असली रूप में आते हुए तांत्रिक और गांव वाले देख लेते है | तभी तांत्रिक कहता है इन दोनों से हम गांव वालों को खतरा है और कल रात तक रुको मैं इन दोनो को पकड़कर बोतल में कैद कर लूंगा अभी यहां से जाना होगा ।

तभी सुबह होते ही बाबा तांत्रिक अपने जादू टोना से तैयार रहता है और रात होने का इंतजार करता हैं । फिर रात होते ही बाबा तांत्रिक जंगल जाता है कुछ समय बाद नाग और नागिन वहा आते है |

फिर नाग और नागिन को देखते ही बाबा अपने जादू टोने की शक्ति से तुरंत अपने बोतल में कैद कर लेते है |

और अपने शमशान घाट ले जाता है और उसे जादुई मणि मांगता है लेकिन वे दोनों कुछ भी नही बताते फिर तांत्रिक उन दोनों को जख्मी कर देता है ।

सुबह होते ही जब रेखा सोकर उठती है तो उसके माता पिता कही दिखाई नही देते फिर वह इधर-उधर ढूंढने लगती है जब गांव वालो से पूछती है तो गांव वालोे को सब कुछ पता रहने के बावजूद कुछ नही बताते है ।

और फिर रेखा अपनी जादुई मणि से अपने माता पिता का पता लगाती है और देख लेती है कि वह किसके पास है | और सोचती है अरे यह तो बाबा तांत्रिक के पास है और यह बाबा तांत्रिक तो बहुत ही शक्तिशाली और खतरनाक है |

इसके कैद से अपने माता – पिता को कैसे बचाऊ?

फिर रेखा एक उपाय सोचती है और अपनी सभी शक्ति को इकट्ठा करती है और फिर रात होते ही बाबा तांत्रिक के पास जाती है और बोलती है अरे तांत्रिक मेरे माता-पिता को छोड़ दे नही तो तू बहुत पछतायेगा |

फिर बाबा तांत्रिक बोलता है मैं बाबा तांत्रिक हूँ मेरा कोई कुछ नही कर सकता |

फिर तांत्रिक अपने जादू टोना की शक्ति से रेखा पर प्रहार करता है और रेखा वही पर गिर जाती है ।

और फिर रेखा दुबारा उठती है और अपनी सभी शक्ति को इकट्ठा करके तांत्रिक के ऊपर प्रहार करती है | एक ही झटके में बाबा तांत्रिक वही गिर जाता है और बुरी तरह जख्मी हो जाता है और रेखा बाबा तांत्रिक के सारी शक्ति को नष्ट कर देती है |

फिर अपनी जादुई मणि से अपने माता पिता को उस बोतल से आजाद कराती है और गांव छोड़कर दूर किसी दूसरे जंगल मे चली जाती है ।

तो दोस्तो Panchtantra Ki Kahani(इच्छाधारी नागिन की बेटी का बदला), की कहानी कैसी लगी हमे Comment करके जरूर बताये ।

Read More Short Story

Pariyon Ki Kahani in Hindi – जादुई जलपरी और राजू की शादी

(इच्छाधारी नागिन और चुड़ैल)

(चार ब्राम्हण की कहानी)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here