Pariyon Ki Jadui Kahani | परी और नागिन के बच्चे

0

दोस्तों आज मैं आपको इस पोस्ट में Pariyon Ki Jadui Kahani (परी और नागिन के बच्चे) की कहानी बताउंगी, यह कहानी सबसे अलग है और मजेदार है | यह न सिर्फ बच्चों की कहानी है बल्कि बड़े भी इस कहानी का लुत्फ़ उठा सकते है | इस कहानी को पढ़ते समय आप एक अलग ही दुनिया में चले जायेंगे |

अक्सर बहुत से लोगों को अलग-अलग दुनिया में जाने की इच्छा होती है, तो आप लोगों की इच्छाओ को ध्यान में रखते हुए इस कहानी के माध्यम से हम अपनी तरफ से आपको अलग दुनिया में ले जाने की कोशिश कर रहे है, तो चलिए दोस्तों Pariyon Ki Jadui Kahani (परी और नागिन के बच्चे), की कहानी शुरुआत करते है |


Pariyon Ki Jadui Kahani (परी और नागिन के बच्चे)

यह कहानी बहुत पहले की बात है प्यारीपुर नाम की एक परियो की दुनिया थी, इस दुनिया में सभी एक साथ मिलजुल कर रहते थे और अक्सर वहा की परिया धरती लोक के जंगल में घुमने आया करती थी |

प्यारीपुर में चाँदनी और मीना नाम की दो परी रहती थी दोनों एक दुसरे की पक्की सहेली थी, मीना की शादी हो गई थी | जबकि चाँदनी की अभी शादी नहीं हुई है |

शादी के कई साल बाद मीना, चाँदनी परी से मिलने आती है दोनों एक दुसरे को देखकर बहुत खुश हो जाते है, दोनों बहुत सारी बाते करते है, तभी चाँदनी परी कहती है तुम्हारी शादी सुदा जिंदगी कैसी चल रही है

मीना परी बोलती है बहुत अच्छी तो नही चल रही है, मेरे पति हमेशा अपने कामों में व्यस्त ही रहते है, मुझे कही घुमाने भी नहीं ले जाते, लड़के तो शादी के बाद बहुत बदल जाते है, शादी से पहले कहते कुछ और है फिर शादी के बाद करते कुछ और है, बस बच्चों के सहारे मेरी जिंदगी कट रही है |

चाँदनी परी बोलती है वैसे मीना तुम्हारे कितने बच्चे है, मीना कहती है मेरी दो प्यारी बच्ची है, अच्छा अब तुम बताओ चाँदनी अभी तक तुमने शादी क्यों नही की हो ? चाँदनी बोलती है मेरी पसंद का तो अभी तक कोई नही मिला है जब मिल जाएगा तो मैं कर लुंगी वैसे मैं अभी बिना शादी के बहुत खुश हूँ |

मीना बोलती है काश मैं भी तुम्हारी तरह समझदार होती तो सोच समझकर ही शादी करती, चलो जाने दो अब इस बातो को जो हो गया सो हो गया |

वैसे मैंने तुम्हारे लिए अपनी दुनिया से एक 2020 नाम की जादुई छड़ी लाई हूँ | चाँदनी परी इस देखकर कहती है अरे यह छड़ी तो बहुत ही प्यारी है वैसे यह छड़ी क्या काम करती है |

मीना परी कहती है तुम तो जानती हो जंगल में जानवर कितने बढ़ चुके है | चाँदनी कहती है हां मीना अब तो जंगल घुमने जाने में भी डर लगता है | मीना कहती है इस 2020 जादुई छड़ी से जानवरों को एक ही बार में अपने दूर रख सकते है, चलो चाँदनी अब जंगल घुमने चलते है | ऐसा कहकर दोनों जंगल घुमने चली जाती है |

अचानक चाँदनी एक भेड़िया को देखती है और डर जाती है तभी मीना एक मंत्र पढ़ती है और 2020 जादुई छड़ी से उस भेड़िये को एक ही बार में अपने से दूर कर देती है और कहती है अब तुम्हारी बारी है चाँदनी अब तुम लो |

चाँदनी को कुछ समय बाद झाड़ियो में किसी की आवाज सुनाई देती है, तभी चाँदनी देखे बिना ही की झाड़ियो में कौन है वो तुरंत मंत्र पड़ देती है और 2020 जादुई छड़ी से वार कर देती है |

जब वह उन झाड़ियो के पास पहुचती है तो देखती है की वो एक इच्छाधारी नागिन रहती है | जो अपनी जिंदगी की आखिरी साँसे गिन रही होती है तभी चाँदनी रोते हुए कहती है मैंने ये क्या कर दिया मैंने बहुत बड़ा पाप कर दिया मैंने एक इच्छाधारी नागिन को मार दिया, मैंने आपको जानबुझकर नही मारा मुझे माफ़ कर दीजिये

फिर इच्छाधारी तड़पती हुई बोलती है मुझे मार दिया कोई बात नही मेरे दो बच्चे है उन दोनों का इस दुनिया में कोई नही है तुम्हें उन दोनों को पालना होगा | मेरे बच्चे यहा से 5 किलोमीटर दूर एक घर में मिलेंगे, इतना कहते ही इच्छाधारी नागिन मर जाती है |

मीना और चाँदनी जब नागिन के घर पहुचती है तो देखती है वहा दो बच्चे खेल रहे होते है | चाँदनी उन दोनों बच्चो को गले से लगाती है और अपने साथ ले जाती है |

इसे भी पढ़ेइच्छाधारी नागिन की बेटी का बदला

चाँदनी उन दोनों बच्चों को बड़े ही प्यार से पालती है उन्हें जादुई सिखाती है और दुनिया के तौर तरीके सिखाती है, दोनों बच्चे भी चाँदनी के साथ बहुत खुश रहते है, फिर धीरे-धीरे करके दोनों बच्चे बड़े हो जाते है |

चाँदनी ने जिस नागिन को मारी थी उसकी एक बहन भी होती है और वह सोचती है चाँदनी परी ने मेरे बहन को मारकर उसके बच्चे चुरा लिए है और फिर एक दिन इच्छाधारी नागिन की बहन चाँदनी परी को मारने चली जाती है |

जब वह चाँदनी परी को मार रही होती है तभी चाँदनी परी बोलती है मैंने तुम्हारी बहन को जानबुझकर नही मारा था वो तो गलती से मेरे वजह से  उसकी मौत गई थी |

तभी  इच्छाधारी नागिन की बहन बोलती है नही तुमने जानबुझकर मारा है अब मैं तुम्हे बिलकुल भी नही छोडूंगी अब मैं तुम्हे मारकर ही रहूंगी | इच्छाधारी नागिन की बहन जब चाँदनी परी के ऊपर हमला करने जाती है तभी दोनों बच्चे बीच में आ जाते है और उन्हें रोक लेती है |

और बच्चे कहते है मौसी आप यहा से चले जाइये हम दोनों यहा बहुत खुश है हमे परी माँ बहुत अच्छी लगती है, हमें कभी भी माँ की कमी महशुस नहीं होने दी है | बच्चो के ऐसा कहते ही इच्छाधारी नागिन की बहन की बहन चाँदनी परी को छोड़ देती है और वहा से चली जाती है |

तो दोस्तों Pariyon Ki Jadui Kahani (परी और नागिन के बच्चे) की कहानी कैसी लगी हमे Comment करके जरुर बताये |

यदि दोस्तों आपके पास Hindi में कोई article, children stories in hindi या जानकारी है जो आप हमारे साथ शेयर करना चाहते है तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करे, हमारा id है [email protected] , पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ Publish करेंगे, Thanks.

Adventure Story – राजा, परी और चुड़ैल की कहानी

परियों की कहानी – गुड़िया परी का वरदान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here