Panchtantra Ki Kahani In Hindi | इच्छाधारी नागिन और चुड़ैल

0

हेलो दोस्तो आज मैं आपको Panchtantra Ki Kahani In Hindi (इच्छाधारी नागिन और चुड़ैल), की कहानी बताने जा रही हु, दोस्तो जब भी हम कोई इच्छाधारी नाग नागिन की Movies देखते है तो यह सोचते हैं कि काश मैं भी इच्छाधारी नाग – नागिन होता तो कितना मजा आता, लेकिन दोस्तो यह सिर्फ Movies में ही होता है इसका हमारी वास्तविकता से कोई लेना देना है, यह सिर्फ लोगो के Entertainment के लिए बनायी जाती है ।

तो दोस्तो आज मैं आपको इसी से Related एक छोटी सी Short Story बताने जा रही हूँ जिसे पढ़ने के बाद आप कुछ समय के लिए अपनी Reality से दूर एक काल्पनिक दुनिया मे चले जायेंगे, तो चलिए दोस्तो Panchtantra Ki Kahani In Hindi(इच्छाधारी नागिन और चुड़ैल), की कहानी शुरुआत करते हैं ।


Panchtantra Ki Kahani In Hindi (इच्छाधारी नागिन और चुड़ैल)

दोस्तो बहुत समय पहले की बात है राधेपुर नामक एक गाँव था गांव में सभी लोग एक साथ मिलजुल कर रहते थे, जब भी कोई त्योहार आता था तो सभी लोग एक साथ मिलजुल कर मनाते थे, सभी एक परिवार की तरह रहते थे, हर जरूरत के समय एक दूसरे की मदद करते थे ।

राधेपुर गांव के नजदीक एक जंगल था उसी जंगल में एक इच्छाधारी नागिन एक मंदिर में निवास करती थी, गांव वाले अक्सर वहां पूजा करने जाते थे और जब भी कोई मुसीबत आती थी तो वे सब इच्छाधारी नागिन को याद करते थे ।

उसी गांव के नजदीक एक चुड़ैल रहती थी वह चुड़ैल बहुत ही भयानक, काला जादू वाली और खतरनाक थी वह अक्सर अपना रूप बदलकर अलग-अलग गांव में जाकर खिलौने बेचती थी और बच्चों को गायब कर देती थी ।

फिर एक दिन वह चुड़ैल राधेपुर गांव में खिलौने बेचने आती है और कहती है खिलौने लेलो, खिलौने लेलो, बच्चो के मन पसंद खिलौने, सस्ते खिलौने, मजबूत खिलौने, बच्चो का मन खुश कर देने वाले खिलौने लेलो, भैया दीदी खिलौने लेलो बच्चो को बहुत मजा आएगा।

खिलौने वाले को देख एक बच्चा कहता है मम्मी – मम्मी मुझे खिलौने चाहिए मुझे वो ट्रक चाहिए मम्मी दिला दो ना, बच्चे खिलौने के लिए जिद करने लगता है, तब माँ बोलती है नही बेटे अनजान लोगो से खिलौने नही लेते लेकिन बच्चे के जिद के आगे माँ बेबस हो जाती है और ट्रक ले लेती है ।

फिर पड़ोस के कुछ बच्चे भी खिलौने ले लेते है कोई Car है तो कोई JCB, खिलौने बेचने के बाद चुड़ैल वापस अपने घर लौट जाती है ।

जैसे ही रात होती है चुड़ैल कहती है मेरे प्यारे खिलौने मेरे पास आओ सभी बच्चों को मेरे पास लेके आओ, चुड़ैल के ऐसा कहते ही सभी खिलौने जिंदा हो जाते है और अपने आप चलने लगते है ।

चुड़ैल अपनी जादुई शक्ति से बच्चों को अपने वश में कर लेती है और जिन-जिन बच्चों ने वह खिलौने खरीदे थे, खिलौने के साथ वो भी चलने लगते है | खिलौने धीरे -धीरे बच्चो को चुड़ैल के पास ले जाती है ।

बच्चों को देखकर चुड़ैल बहुत खुश हो जाती है और कहती है आज तो मैं बहुत खुश हूं, आज एक साथ पहली बार बहुत सारे बच्चे आये है, फिर कुछ समय बाद चुड़ैल बच्चों को अपने तहखाने में रख लेती है।

फिर कुछ समय बाद बच्चों को होश आता है और सभी बच्चे बहुत डर जाते है और रोने लगते है, बच्चों को रोता हूआ देख चुड़ैल बहुत खुश हो जाती है वो बच्चों को डराकर फिर से रुलाती है ।

इधर गांव वाले बहुत परेशान रहते है | किसी को कुछ समझ मे नही आता है कि बच्चे अचानक से कहा चले गए तभी सभी गांव वाले इच्छाधारी नागिन के मंदिर में जाते है और बोलते है हे देवी हमारी मदद करो हमारे बच्चों का कोई अता-पता नही है कृपया हमारी मदद कीजिये ।

इतना कहने के बाद इच्छाधारी प्रकट होती है और बोलती है घबराओ मत मैं आप सब के बच्चों को वापस लाऊंगी | फिर इच्छाधारी अपनी नागमणि से बच्चों का पता लगाती है और गांव वालों से बोलती है जो औरत गांव में खिलौने बेचने आयी थी उसी ने सभी बच्चों को गायब किया है, वे वास्तव में एक चुड़ैल है ।

फिर इतने में नागिन उन बच्चों को लाने के लिए चली जाती है फिर कुछ समय बाद चुड़ैल के पास पहुच जाती है और बोलती है चुड़ैल बाहर निकल और बच्चों को छोड़ दे, तभी चुड़ैल बाहर निकलती है और बोलती है “ऐ नागिन यहां से चले जा नही मैं तुम्हे मार दूंगी” |

फिर इसके बाद दोनों के बीच एक खतरनाक लड़ाई होने लगती है चुड़ैल अपनी काले जादू की शक्ति से नागिन पर हमला कर देती है और नागिन को नीचे गिरा देती है | फिर इसके बाद नागिन बहुत क्रोध में आ जाती है और चुड़ैल को डस लेती है, एक ही बार मे चुड़ैल का ताम कमाम कर देती है ।

फिर बच्चों को छुड़ाकर गांव वाले के पास ले जाते है, फिर गांव वाले अपने बच्चों को देखकर बहुत खुश हो जाते है | और कहते है बहुत-बहुत धन्यवाद देवी आपका, आपने आज हमारे बच्चों की जान बचा ली |  फिर कुछ समय बाद इच्छाधारी नागिन मंदिर में वापस चली जाती है।

बच्चे लोग अपने मम्मी पापा को देख बहुत खुश हो जाते है और कहते है कि मम्मी अब हम कभी भी कोई भी चीज के लिए जिद नही करेंगे और अनजान व्यक्ति स कुछ नही खरीदेंगे ।

तो दोस्तो Panchtantra Ki Kahani In Hindi (इच्छाधारी नागिन और चुड़ैल) की कहानी से यह सीख मिलता है कि किसी अनजान आदमी से बिना सोचे समझे कोई भी समान नही लेना चाहिए ।

तो दोस्तो यह कहानी आपको कैसी लगी हमे Comment करके जरूर बताएं यदि आपको यह अच्छी लगी तो Share जरूर कीजिये ।

 

ज्ञान के अहंकार को  दूर कर देने वाली कहानी  | चार ब्राम्हण की कहानी 

 Pariyon Ki Kahani in Hindi | जादुई जलपरी और राजू की शादी

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here