Short Stories For Kids In Hindi | गणेश जी और छोटे भक्त

0

Hello दोस्तो मेरा नाम शिव है आज मैं आप सभी को इस पोस्ट में Short Stories For Kids In Hindi | गणेश जी और छोटे भक्त, की कहानी बताने जा रहा हु, दोस्तो यह एक छोटे बच्चे की भक्ति की कहानी है जो सच्ची श्रध्दा से भगवान गणेश को मानते थे और उनकी पूजा करते थे ।

दोस्तो भगवान गणेश की कहानी पढ़ना या सुनना सभी को अच्छा लगता है क्योंकि भगवान की story पढ़ने से मन को शांति मिलती है और साथ ही हमारा भगवान के प्रति आस्था और भी बढ़ जाता है ।

इसी को ध्यान में रखते हुए आज मैं आप सभी के लिए यह कहानी लाया हूं, तो चलिए दोस्तो Short Stories For Kids In Hindi | गणेश जी और छोटे भक्त, की कहानी शुरू करते है और जानते है कि कैसे गणेश भगवान मुसीबत के समय अपने भक्त की मदद करता है ।


Short Stories For Kids In Hindi | गणेश जी और छोटे भक्त

बहुत समय पहले की बात है एक छोटा सा गांव था, उस गांव का नाम विनायकपुर था, उसी गांव में एक छोटा सा लड़का रहता था जिसका नाम गोलू था वह बहुत ही सीधा साधा और प्यारा बच्चा था और साथ ही वह बच्चा बहुत जल्दी इमोशनल भी हो जाता था ।

गोलू शुरू से ही गणेश जी का परम भक्त था, नियम से गणेश जी की पूजा अर्चना करता था वह सच्चे मन से गणेश जी का ध्यान करता था वह सुबह शाम हर रोज गणेश जी की पूजा करता ।

एक दिन गोलू का अपनी माँ से झगड़ा हो गया और वह घर से यह कहकर निकल गया कि आज तो मैं गणेश जी से मिलकर ही घर वापस लौटूंगा, गोलू तेज धूप में विनायक जी का नाम लेकर चलता गया, वह गणेश जी को ढूढत ढूंढतेे रात हो गई लेकिन फिर भी वह भगवान गणेश का नाम पुकारता रहा ।

वह नाम पुकारते हुए एक जंगल में पहुंच गया और विनायक जी यह सब देख रहे थे, उसने सोचा कि इस लड़के ने मेरे नाम से घर छोड़ा है अगर मैंने इसे घर नहीं भेजा तो जंगल में इसे जंगली जानवर खा जाएंगे, मुझे इसकी रक्षा करनी है ।

विनायक जी ने बूढ़े ब्राह्मण का रूप लेकर वहां आए और बोलेे

ब्राह्मण बोला – बेटा तू कहां जा रहा है ? रात बहुत हो गई है क्या तुम्हें जंगली जानवर से डर नही लगता ।
गोलू बोला – मैं तो विनायक जी से मिलने जा रहा हूं और जब तक मैं उससे ना मिलु तब तक मैं घर नही जाऊंगा

ब्राह्मण बोला – बेटा मैं ही विनायक जी हूं ।
गोलू बोला – नहीं आप तो एक ब्राह्मण बाबा है आप विनायक जी नहीं है ।

तब गणेश जी ने अपना असली रूप धारण किया, गोलू यह देखकर बहुत ही खुश हो गया और गणेश जी को प्रणाम किया ।

गणेश जी बोले – बेटा मैं तुम्हारे भक्ति से प्रसन्न हो गया, तुझे जो मांगना है मुझसे मांग ले लेकिन एक ही बार में मांग लेना
गोलू बोला – अन्न मांगू, धन मांगू, 9 मंजिला महल मांगू, हीरे मोतियों के ढेर मांगू ।
गणेश जी बोला – बेटा तूने तो एक बार में ही सब कुछ मांग लिया लेकिन अभी घर जा तुझे यह सब प्राप्त होगा ।

ऐसा वरदान देकर गणेश वहां से गायब हो गए, अब लड़का खुशी-खुशी घर वापस आ गया, घर आया तो उसने देखा उसके घर की जगह तो महल खड़ा है और घर में खूब धन ही धन हो गया है, तब गोलू अपनी मां से बोला

गोलू – मां देखो मैं गणेश जी से कितना सारा धन लेकर आया हूं ।

तो दोस्तो इस तरह यह कहानी खत्म हुआ, हे विनायक महाराज जैसे उस छोटे से लड़के पर कृपा किये और उसे अपने दर्शन दिए वैसे ही इस कहानी को पढ़ने वाले सभी पर कृपा करे, बोलिए भगवान गणेश महाराज जी की जय

दोस्तो आप सभी से निवेदन है कि आप लोग भी सच्चे दिल से भगवान की पूजा करे, ध्यान करे और पूरी श्रद्धा से माने, भगवान आपकी मनोकामना अवश्य पूरा करेगा क्योकि इस दुनिया मे भगवान है, भगवान है तब यह दुनिया है ।

तो दोस्तो Short Stories For Kids In Hindi | गणेश जी और छोटे भक्त, की कहानी कैसी लगी हमे जरूर बताएं साथ ही इस कहानी को अपने दोस्तों के जरूर शेयर करे ।


यदि दोस्तों आपके पास Hindi में कोई article, Motivational Short Story in Hindi या अन्य Moral Stories in Hindi है जो आप हमारे साथ शेयर करना चाहते है तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करे, हमारा id है [email protected], हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ Publish करेंगे, Thanks.

इसे भी पढ़े Hindi Stories For Kids With Moral | बन्दर और मगरमच्छ

इसे भी पढ़े KGF Story In Hindi – Kolar Gold Field

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here