Short Story In Hindi अपनी सच्चाई को जानना

0

हेलो दोस्तों एक बार फिर मैं आपका स्वागत करता हूं एक नए और दिल को छू लेने वाली Short Story In Hindi में यह कहानी आपके दिल को छू लेगी ।

​दोस्तों Lockdown का टाइम है और बहुत से लोग अपनी दिन बिताने के लिए बुक्स पढ़ते हैं तो कुछ लोग यूट्यूब में मूवीस देखते हैं या फिर किसी और सोशल मीडिया का उपयोग करते हैं आज मैं आपको Short Story बताने जा रहा हूं जो आपके दिल को छू लेगी और इसके पीछे जो नैतिक ज्ञान छिपा है इससे आपका जीवन और सुगम और सुंदर बन जाएगा बस इसके नैतिक ज्ञान को आपको आपने जीवन में लाने की देरी है तो चलिए दोस्तों एक बार फिर शुरुआत करते हैं नई कहानी की और यह कहानी आपको बहुत पसंद आएगी मैं आपको यह लिखकर गारंटी दे सकता हूं।

​अपनी सच्चाई को जानना | Short Story In Hindi

​एक बार एक शहर में बहुत ही धनवान व्यक्ति रहता था उसे अपने धन-संपत्ति पर बहुत ही गुमान था वह चाहता था कि उसके पुत्र को भी उसकी धन-संपत्ति का गुमान हो और वह भी छोटे लोगों से दूरी बनाकर रखें वे सोचते थे कि गरीब लोग उनसे दोस्ती करके उनका फायदा उठाना चाहते हैं |

             तो एक दिन वह व्यक्ति अपने पुत्र को बोला कि बेटा चलो मैं तुम्हें आज कुछ दिखाना चाहता हूं उसके पुत्र ने बोला ठीक है पापा चलते हैं फिर उन्होंने अपनी एक रेड कारपेट कार को लाया और उसमें बैठकर गांव की ओर चले गए वह व्यक्ति अपने बेटे को यह बताना चाहता था कि वे धनवान है इसलिए वे कितने भाग्यशाली हैं।

​दोनों एक गांव में पहुंचे और अपने पुत्र को दिखाया कि देखो यह गरीब लोग कैसे रहते हैं उन्होंने एक पूरा दिन एक गरीब के घर में बिताया ताकि वह अपने बच्चे को यह बता सके कि वह कितने भाग्यशाली हैं | जैसा गरीब करते हैं वैसा काम किया जैसा गरीब खाते हैं वैसे खाना खाए जैसे गरीब सोते हैं वैसे सोए पूरा दिन उसने एक गरीब की तरह जिया और यह बताना चाहा कि वह कितने भाग्यशाली हैं कि उसके पास अरबों की संपत्ति है ।

​जब एक पूरा दिन गुजर गया और जब वे वापस अपने घर की ओर आने लगे तब रास्ते में उस  अमीर व्यक्ति ने अपने पुत्र से पूछा कि तुमने देखा कि गरीब लोग कैसे रहते हैं और कैसे जीते हैं तुम्हें खुद पर गर्व होना चाहिए कि तुम एक अमीर व्यक्ति के पुत्र हो और तुम्हारे पास वह हर चीज है जो तुम चाहते हो जिसके तुम्हें जरूरत पड़ती है तुम जब चाहो जो भी चाहो वह पा सकते हो यह बहुत नसीब से भाग्यशाली लोगों को ही मिलता है इतना कहकर अमीर व्यक्ति ने अपनी बात समाप्त की तुमने देखा ना कि गरीब लोग कैसे जीते हैं।

​तब उसके पुत्र ने जवाब दिया हां पापा मैंने देखा कि गरीब लोग कैसे होते हैं हमारे पास एक कुत्ता है जबकि उसके पास चार कुत्ते हैं,  हमारे पास एक स्विमिंग पूल है लेकिन उसके पास एक पुरी नदी है और साथ ही साथ बहुत बड़ा तालाब है जहां वे एक साथ में नहाते हैं, हमारे पास विदेशों से मंगाया गया लाइट है लेकिन उसके पास रात को चमकने वाले सैकड़ों तारे हैं , हम अपना खाना बाजार से खरीदते हैं लेकिन वे लोग तो अपना खाना खुद अपने खेतों में उगाकर  खाते हैं भला इससे अच्छा खाना और क्या हो सकता है, हम लोग अपने परिवार के साथ रहते हैं 3-4 लोग लेकिन वह पूरे गांव को ही अपना परिवार समझते हैं , हमारे पास खुली हवा में घूमने के लिए एक गार्डन है लेकिन उसके पास खुली हवा में घूमने के लिए पूरी धरती है हमने  अपने बचाव के लिए अपने घर में बाड़े बनवाए हैं लेकिन वे अपने बचाव और सुरक्षा के लिए अच्छे दोस्त बनाए हैं जो उसकी हर मुसीबत में उसके साथ खड़े रहते हैं |

                                     अपने बेटे की बात सुनकर अमीर व्यक्ति कुछ नहीं बोल पा रहा था उसे समझ नहीं आ रहा था कि अब वह क्या बोले फिर उसके पुत्र ने अपने बात को समाप्त करते हुए कहा कि धन्यवाद पापा आपने मुझे समझाया कि हम कितने गरीब हैं ।

​दोस्तों दोस्तों यह तो थी आज की कहानी मुझे पता है इसे आपको कुछ ना कुछ सीख जरूर मिली होगी मैंने यह कहानी अखबार में पड़ी थी और मुझे यह कहानी से बहुत कुछ सीख मिला मैं एक गरीब परिवार से बिलॉन्ग करता हूं दोस्तों और मुझे यह पता है कि गरीब होना गुनाह नहीं है बल्कि गरीब लोग अपनी जिंदगी में और ज्यादा ही आजादी के साथ जीते हैं जबकि अमीर लोग फुल सिक्योरिटी वगैरा के साथ ही बाहर निकलते हैं |

नैतिक ज्ञान

Moral of a Short Story In Hindi

नैतिक ज्ञान यह कहता है कि हमें कभी भी अपने पैसे पर घमंड नहीं करना चाहिए क्योंकि पैसे को आते और चले जाते समय नहीं लगता है | आज जो धनवान है वो कल गरीब भी हो सकता है | इन्सान को उसकी इंसानियत अमीर बनती की वह अपने से छोटो को किस नज़र से देखता है |

Panchtantra Ki Kahaniईमानदारी का फल 

TenaliRama story – सबसे मूल्यवान चीज 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here