The Power Of Love | प्यार की ताकत को बताने वाली कहाँनी

0

दोस्तो मैं आपको इस पोस्ट में आपको ऐसी प्यार की ताकत (The Power Of Love) वाली कहानी बताने जा रहा हु जिसे पढ़ने के बाद आप कहोगे लाजवाब कहाँनी थी यार और आपको सच्चे प्यार की अहमियत भी पता चल जाएगा | The Power Of Love.


सच्चे प्यार की ताकत

एक लड़का था उसका नाम दिव्यांश था उसने हाल ही में एक नया फोन खरीदा था दिव्यांश के पास फोन के अलावा एक कंप्यूटर भी था वह फोन और कंप्यूटर में इतना डूब गया कि खुद को ही भूल गया पूरा दिन फोन और कंप्यूटर में गेम खेलता था |

दिव्यांश का खाना पीना, दोस्तो के साथ मस्ती करना, घुमने जाना, फैमिली के साथ बैठकर बाते करना आदि सभी चीजें भूल चुका था | दिव्यांश ने अपनी लाइफ के पूरे 4 साल ऐसे ही बिता दिए पढ़ाई में दिव्यांश काफी कमजोर हो गया था | स्कूल भी बहुत कम जाने लगा था स्कूल भी जाता था तो बहाने बनाकर घर आ जाता था |

पूरा दिन सिर्फ गेम खेलना और सोना बस यही करता था | दिव्यांश के फैमिली वाले भी उससे बहुत परेशान हो गए थे | लेकिन इससे दिव्यांश कुछ भी फर्क नहीं पड़ता था वह किसी की भी बात को नही मानता था |

एक दिन दिव्यांश की फैमिली वालों ने दिव्यांश को जबरदस्ती स्कूल भेजा उस दिन मानो शायद उस लड़के की लाइफ बदलने वाली थी | दिव्यांश को स्कूल ड्रेस में एक बहुत ही सुंदर सी लड़की दिखी दिव्यांश उसे देखकर बहुत खुश हो गया था वह मन ही मन से उसे चाहने लगा था | उस सुन्दर लड़की का नाम प्रीति था वो सचमुच बहुत सुंदर थी मनो कोई जन्नत की परी हो |

अगले दिन दिव्यांश बिना किसी के कहने पर खुद ही स्कूल चला गया लेकिन दिव्यांश को उस दिन प्रीति नहीं देखी | दिव्यांश ऐसे ही लगातार 7 से 8 दिन तक स्कूल आया लेकिन फिर भी उसे प्रीति नजर नहीं आई दिव्यांश के फैमिली वाले सोच में पड़ गए कि ऐसा क्या हुआ कि दिव्यांश स्कूल जाने लगा |

अचानक से एक दिन दिव्यांश ने प्रीति को देखा प्रीति रोड से आ रही थी और बहुत ही सुंदर लग रही थी दिव्यांश उसके पीछे – पीछे चलकर प्रीति का घर भी देख लिया था | फिर रोज उसी समय पर वह प्रीति को देखने आता था और उसके घर के चक्कर काटता था | प्रीति ने भी ये बात नोटिस की, कि दिव्यांश रोज उसी समय यहाँ आता है | प्रीति भी दिव्यांश को देखकर बहुत खुश हो जाती थी और प्रीति को खुश देखकर दिव्यांश भी बहुत खुश होता था फिर दोनों का करीब आना स्टार्ट हुआ धीरे – धीरे मिलना जुलना स्टार्ट होने लगा |

दिव्यांश अब धीरे – धीरे बदलने लगा था उसका ध्यान अब कंप्यूटर और मोबाइल से हटने लगा था वह फैमिली के साथ भी अच्छे से बातचीत करता था और दोस्तो के साथ भी मस्ती करता था और वह जब भी लड़की के बारे मे सोचता था तो उसे अच्छा लगता था |

एक दिन हिम्मत करके दिव्यांश ने प्रीति को प्रपोज किया चूकि प्रीति भी मन ही मन उसे चाहने लगी थी इसलिए प्रीति ने उसके प्रपोज को एक्सेप्ट कर लिया दिव्यांश उस दिन बहुत खुश था अब वह लड़का एक नार्मल इंसान के जैसा रहने लगा |

एक दिन दोनों साथ में घूमने गए दोनों ने काफी मजे किए हैं वह लोग एक साथ स्कूल जाने लगे और टयूशन भी एक साथ जाने लगे | प्रीति ने दिव्यांश को मानो पूरी तरह से बदल दिया था लड़का अब पढ़ाई अच्छे से करने लगा था |

एक दिन स्कूल जाने से पहले प्रीति का फोन आया उस उसने कहा कि हम दोनों साइकिल से एक साथ स्कूल चलेंगे इसलिए मेरे लिए रुकना दिव्यांश ने कहा ठीक है, तुम रुको मैं तुम्हें लेने आता हूं दिव्यांश प्रीति के पास आया और उसे अपने साइकिल के पीछे सिट पर बैठाया और स्कूल जाने लगे जाते समय रास्ते में बहुत जोरों से बारिश होने लगी |

दोनों बारिश में भीग चुके थे दिव्यांश को प्रीति और भी सुंदर लगने लगी दिव्यांश प्रीति की तरफ देखता ही रह गया | प्रीति ने कहा क्या देख रहे हो ? दिव्यांश ने कहा तुम्हें, दिव्यांश ने कहा आई लव यू प्रीति ने भी तुरंत जवाब दिया आई लव यू टू फिर दिव्यांश ने प्रीति की आंखें बंद कर दी और उसे एक गिफ्ट दिया | गिफ्ट में I Love You बोलने वाला टेडी बियर था दोनों एक साथ बहुत खुश रह रहे थे | प्रीति दिव्यांश लिए अपने हांथो से खाना भी पका कर लाती थी |

एक दिन उन दोनों को दिव्यांश के पिता ने एक साथ देख लिया फिर दिव्यांश के पिता ने उसे बहुत डांट लगाई और फिर दिव्यांश को पढ़ने के लिए हॉस्टल भेज दिया हॉस्टल की छुट्टी में दिव्यांश एक साल बाद घर आया |

एक साल बाद में जब दिव्यांश प्रीति के घर की ओर गया लेकिन उसे प्रीति नहीं दिखी दिव्यांश की पूरी छुट्टी निकल गयी लेकिन उसे प्रीति कही दिखाई ही नहीं दी | नये साल के वक्त प्रीति अपने घर में वापस आयी दिव्यांश ने फिर प्रीति को फोन लगाया और मिलने के लिए रिक्वेस्ट किया प्रीति नहीं मान रही थी बहुत रिक्वेस्ट करने के बाद प्रीति मान गई |

प्रीति दिव्यांश से मिलने आई और प्रीति को देखते ही दिव्यांश ने उसे गले लगा लिया और उसकी आंखों में आंसू आने लगे दिव्यांश ने कहा मैं तुम्हें अभी भी बहुत प्यार करता हूं |

प्रीति ने उसे पीछे धक्का दिया दिव्यांश ने कहा क्या कर रही हो, प्रीति रोई और रोते हुईं बोली मैं तुमसे प्यार नहीं कर सकती अब हम दोनों कभी मिल नही सकते क्योंकि मेरे फैमिली वाले मुझे बाहर ले जा रहे है यह सुनकर दिव्यांश की आंखों में आंसू आने लगा |

दिव्यांश रोते हुए कहने लगा मजाक मत करो, प्रीति ने फिर कहा तुम मुझे भूल जाओ, दिव्यांश ने कहा मैं तुम्हें कभी भूल नहीं सकता प्रीति तुम सिर्फ मेरी हो, प्रीति यदि तुम मुझे छोड़कर चली गई तो मैं कैसे जीऊंगा, तुम्हारे कारण ही मेरी जिंदगी में बदलाव आया है प्लीज मुझे छोड़कर मत जाओ |

प्रीति रोने लगी, प्रीति भी अपने आप को नही संभाल पा रही थी लेकिन फिर दिव्यांश ने पहले खुद को संभाला और फिर प्रीति को चुप किया और अपने हाथों से उसके आंसू पोछने लगे फिर दिव्यांश ने प्रीति को समझाया कि शायद हम दोनों का सफर यही तक का था मेरी जिंदगी में आई और मेरी जिंदगी में बदलाव भी तुम्हारे कारण हुआ इसलिए प्रीति मैं तुम्हे कभी नही भूल सकता फिर दोनों गले मिलने के बाद वहा से चले गए |

प्रीति आगे की पढाई के लिए सिंगापुर चली गयी और दिव्यांश मुंबई, दोनों ने अपनी पढाई पूरी की और दोनों की जॉब लग गयी अब दोनों अपने पैरो पर खड़े हो चुके थे दोनों ने अपने – अपने पेरेंट्स को कनवेंस किया और बताया की वो एक दुसरे से कितना प्यार करते है | उन्होंने बताया की वे तबसे एक दुसरे से प्यार करते है जब उन्हें प्यार का मतलब भी नहीं पता था |

उन्होंने अपने पेरेंट्स को बताया की वे जब स्कूल में थे तब एक दुसरे के साथ रहना, एक ही साइकिल पर बैठकर टयूशन जाना, साथ में एक दुसरे की जुदाई खाना न खाना, एक दुसरे को देखे बिना बात किये बिना न रह पाना, हर पल उसी के बारे में सोंचना और तो और एक दुसरे की परवाह करना ये सब तो सच्चे प्यार की निशानी है |

दोनों के पेरेंट्स उनके प्यार को समझ गये और दिव्यांश और प्रीति की शादी के लिए मान गये और उनकी शादी हो गयी और अब दोनों अपने गृहस्त जीवन में बहुत खुश है |

 

तो दोस्तों ये तो थी The Power Of Love की कहाँनी |

मैं आशा करता हूँ की आपको ये The Power Of Love कहानी बहुत पसंद आया होगा

तो दोस्तों इस The Power Of Love से हमें यह सीख मिलती है कि प्यार में बहुत ताकत होती है सच्चा प्यार इंसान की जिंदगी बदल सकता है | दिव्यांश जो पढाई में कमजोर था स्कूल नहीं जाता था वो प्रीति के प्यार में पड़कर स्कूल भी जाने लगा और कामयाब इंसान भी बन गया और दोनों अपने प्यार के रिश्ते को शादी के अटूट बंधन में बदल दिया |

दोस्तों ऐसे ही मजेदार और The Power Of Love पे आधारित कहाँनी पढ़ने के लिए हमारे वेबसाइट को बुकमार्क करके जरुर रखे और साथ ही अपने राय हमें कमेंट करके जरुर बताये और इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें | धन्यवाद मिलते है अगली Interesting story in Hindi में |

heart Touching Love Story – दिल को छू लेने वाली प्रेम कहाँनी 

The True Love Story – सच्चे प्यार की कहाँनी 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here